Spread the love

ज़िले की पुलिस ने सनवाल से अमृतसर ट्रक में ले जाई जा रही 17 क्विंटल 65 किलो 500 ग्राम (भूतकेशी) जड़ी-बूटी पकड़ी है। सनवाल-भंजराडू सड़क पर नाके के दौरान पुलिस गाड़ियों की चेकिंग कर रही थी। बहरहाल नाके से गुज़रे ट्रक में लदी जड़ी-बूटी संबंधी दस्तावेज न दिखाने पर आखिरकार पुलिस ने जड़ी-बूटी के मालिक और ट्रक चालक के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगामी तफ्तीश शुरू कर दी है। बाहरी मार्किट में इस जड़ी-बूटी की कीमत लाखों में बताई जा रही है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक सनवाल-भंजराडू सड़क पर नाका लगाकर पुलिस रुटीन चेकिंग के दौरान वाहनों की तलाशी ले रही थी। इतने में रविवार सुबह 9:00 बजे के करीब एक ट्रक वहां पहुंचा। पुलिस ने ट्रक चालक से उसमें लदे सामान के दस्तावेज दिखाने को कहा लेकिन, चालक जड़ी-बूटियों संबंधी कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाया। *ऐसे में पुलिस ने ट्रक की तलाशी ली तो उसके भीतर से 17 क्विंटल 65 किलो 500 ग्राम (भूतकेशी) जड़ी-बूटी बरामद हुई। पुलिस ने जड़ी-बूटी मालिक रोशन लाल निवासी चचूल डाकघर सनवाल तहसील चुराह और ट्रक चालक रामलाल गांव कुमारणी डाकघर गनेड़ तहसील चुराह के खिलाफ वन अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर आगामी जांच शुरू कर दी है*। सूत्र खुलासा करते है कि कई बार जड़ी-बूटी का परमिट लेने के बाद परमिट धारक क्षेत्र से सस्ती जड़ी-बूटियों के बजाय महंगी जड़ी-बूटियां यहां से निकाल कर बाहरी मंडियों में बेच कर मोटी कमाई करते हैं। जड़ी-बूटी का इस्तेमाल दवाई के रूप में भी किया जाता है।

उधर, पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने भी इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पुलिस अपने स्तर पर जांच करने के बाद जड़ी-बूटी वन विभाग को सौंप देगी। 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *