MAHANIDESHAK ICFRE DEHRADOON
Spread the love

सोमी प्रकाश भुव्वेटा। मूलतः चंबा शहर के धड़ोग मोहल्ले से ताल्लुक रखने वाली कंचन देवी को भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद देहरादून का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। सबसे बड़ी बात तो यह है कंचन देवी इस प्रतिष्ठित पद पर नियुक्त होने वाली पहली महिला भारतीय वन सेवा अधिकारी हैं। उनकी इस उपलब्धि से चंबा वासी खासकर मोहल्ला धड़ोग के लोग काफी गदगद हैं। कंचन देवी की पढ़ाई चंबा के स्कूल और कॉलेज में हुई है। राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चंबा से स्कूल स्तर की पढ़ाई करने के बाद बीएससी उन्होंने चंबा कॉलेज से की और फिर एमएससी हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से करने के बाद आईएफएस अधिकारी बनीं। अब जब मध्य प्रदेश कैडर की 1991 बैच की भारतीय वन सेवा अधिकारी  कंचन देवी को भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद (आईसीएफ़आरई), देहरादून के महानिदेशक के रूप में नियुक्त किया गया है तो चंबा वासी बेहद खुश हैं। भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद देश में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत एक अग्रणी परिषद है।  कंचन देवी इस प्रतिष्ठित पद पर नियुक्त पहली महिला भारतीय वन सेवा अधिकारी हैं। उन्हें मध्य प्रदेश राज्य सरकार और भारत सरकार में वन प्रबंधन, वन प्रशासन, शिक्षा, मानव संसाधन विकास और अनुसंधान एवं विस्तार सहित वानिकी के विभिन्न क्षेत्रों में 30 वर्षों से अधिक कार्य करने का अनुभव है। उन्होंने इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी (आईजीएनएफए), देहरादून में संकाय सदस्य के रूप में भी कार्य किया है। अपने सेवा कार्यकाल के दौरान, उन्होंने मौजूदा वन नीतियों आदि को लागू करने, विश्लेषण करने और अद्यतन करने की सिफारिश करके ग्रामीण समुदायों के उत्थान के लिए महत्वपूर्ण कार्य किया है। कंचन देवी पिछले चार वर्षों से आईसीएफआरई में उप महानिदेशक (शिक्षा) के पद पर कार्यरत हैं और उन्होंने देश में वानिकी शिक्षा को बढ़ावा देने, वानिकी पाठ्यक्रमों को मान्यता देने, वन नीति अनुसंधान अध्ययन संचालित करने, मानव संसाधन विकास, आईसीएफआरई के वैज्ञानिकों और तकनीकी अधिकारियों की भर्ती और पदोन्नति करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने सतत भूमि प्रबंधन उत्कृष्टता केंद्र (सीओई-एसएलएम) की स्थापना और आईसीएफआरई में विश्व बैंक द्वारा वित्त पोषित पारितंत्र सेवा सुधार परियोजना (ईएसआईपी) के कार्यान्वयन में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

बाक्स

न केवल चंबा का नाम बल्कि हिमाचल का नाम पूरे देश भर में हुआ रोशन 

चंबा। कंचन देवी के भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद देहरादून के महानिदेशक के तौर पर नियुक्ति पर गदगद दीपक कुमार, अविनाश पाल, धर्मेश रमोत्रा,  डॉ मुकेश, मिंटू, हर्ष अनूप राही ऋषिकेश नीरज हितैषी जितेश्वर सूर्य और योगेश्वर अहीर ने बहुत बड़ी उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा कि चंबा की इस बेटी ने देश के इतने बड़े होते पर पहुंचकर न केवल चंबा का नाम बल्कि हिमाचल का नाम पूरे देश भर में रोशन किया है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *