news for farmers
Spread the love

चंंबा। चंबा जिले के बागबानों को हाई डेंसिटी सेब की अलग-अलग वैरायटी के पौधों के लिए अन्य जिलों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा । उद्यान विभाग चंंबा ने सरोल और राजपुरा स्थित अपनी सरकारी नर्सरी में ही सेब की अलग-अलग वैरायटी के पौधे तैयार कर जिले के बागवानों को मुहैया करवाने का निर्णय लिया है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि इन दोनों सरकारी नर्सरी में बागवानों की सुविधा अनुसार क्वालिटी युक्त और उम्दा वैरायटी के सेब के पौधे उद्यान विभाग चंबा की ओर से उपलब्ध करवाए जाएंगे। इन दिनों इन नर्सरियों में उद्यान विभाग की विशेषज्ञों की निगरानी में अलग-अलग वैरायटी के सेब के पौधों की नर्सरी को तैयार करने का कार्य पूरे जोर-शोर से चल रहा है ।  उद्यान विभाग चंंबा के उपनिदेशक डॉ राजीव चंद्रा ने बताया कि चंंबा जिले में सेब के हाईडेंसिटी प्लांट्स  की काफी डिमांड है लेकिन उनकी इस डिमांड को विभाग बाहर से पौधे मंगवाकर पूरा नहीं कर पा रहा था। बहरहाल उद्यान विभाग ने सेब के हाईडेंसिटी प्लांट्स की डिमांड को पूरा करने के लिए अब चंबा जिले में ही राजपुरा और सरोल में विभाग की नर्सरी में अलग-अलग वैरायटी के सेब के पौधों के रुट स्टाक तैयार करने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि इन दिनों उद्यान विभाग की एचडीओ की देखरेख में राजपुरा और सरोल में सेब की अलग-अलग वैरायटी के तैयार पौधों के रूट स्टाक की जांच प्रक्रिया भी चल रही है ताकि जिले के बागवानों को सेब के हाईडेंसिटी के बेहतरीन पौधे मिल सकें। 

बाक्स 

इन वैरायटी के पौधे हो रहे हैं तैयार 

चंबा। सुपर चीफ, किंग रोइट, अरली रेड वन, रेड ब्लाकस, एमला नाइन, एमला सेवन, एम नाइन, पजाम टू, गेलगाला, बड नाइन, सेलर सपर इत्यादि इंप्रूवड कल्टीवास के पौधे सरोल और राजपुरा स्थित नर्सरी में तैयार हो रहे हैं।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *